अम्बाला जिले में मुख्य बातें जो आपको जरूर पढ़नी चाहिए

नमस्कार दोस्तो, स्वागत ह आपको मेरे इस ब्लॉग में । इस ब्लॉग में हम हरियाणा के जिले अम्बाला के बारे में बात करेंगे। जैसे अम्बाला में क्या प्रसिद्ध है किस तरह के question exam में पूछे जाते है जिससे आपको थोड़ी सहायता मिल सके। क्योकि ये सारी जानकारी एग्जाम की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है। 



अम्बाला नामकरण:-


अम्बाला प्रदेश का मुख्य सैन्य शहर है, इस शहर की उतपत्ति महाभारत की 'अम्बालिका' नाम से हुई । ऐसा भी माना जाता है कि अम्बाला में 'आमों के बाग' अधिक होने के कारण ऐसे अम्बाला कहा जाने लगा।
   डिस्ट्रिक्ट गजेटियर के अनुसार, अम्बाला की स्थापना चौदहवीं शताब्दी में अम्बा राजपूत द्वारा की गई थी, इसलिए इसका नाम अम्बाला पड़ा।



अम्बाला जिले का इतिहास:-

अम्बाला जिला हरियाणा राज्य का प्रमुख एवं ऐतिहासिक जिला है। अम्बाला जिला पंजाब एवं हरियाणा राज्य की सीमा पर स्थित है।
1 नवम्बर 1966 को जिला बना।
1823 में जब अम्बाला ब्रिटिश नियंत्रण में आ गया तब इसे सतलुज नदी के पास राज्यों के लिए राजनीतिक एजेंट का मुख्यालय बनाया गया।
अम्बाला छावनी की स्थापना 1843 ई० में हुई थी तथा इसे 1847 में जिले का दर्जा दिया गया था।
1859 में अम्बाला जिले का मुख्यालय बना और प्रभाग पंजाब प्रशासन के अधीन रहा।
8 नवम्बर, 1927 को गठित साईमन कमीशन का विरोध अम्बाला में हुआ।
असहयोग आंदोलन के दौरान अम्बाला के मुरलीधर ने अपना रायबहादुर का पद छोड़ा।
अम्बाला के निकट टोपरा से प्राप्त स्तम्भ अशोककालीन है। इस पर अशोक के समय के सात अभिलेख अंकित है।




अम्बाला की जानकारी :-

स्थिति                               अम्बाला के उत्तर में
क्षेत्रफल                             1574 वर्ग किमी
अस्तित्व स्थिति                   1 नवंबर 1966
मुख्यालय                           अम्बाला सिटी
जिला कोड                        02
तहसील                           अम्बाला, बराड़ा, नारायण - गढ़
उपतहसील                      अम्बाला छावनी, साहा, मुलाना, शहजादपुर
उपमण्डल                       अम्बाला, नारायणगढ़
कुल जनसंख्या 2011        11,28,350
पुरुष                               5,98,703
महिलाएं                          5,29,647
दशक वृद्धि दर                  12.1%
(2001-2011)

लिंग अनुपात 2011          885
साक्षरता दर 2011            82.9%
पुरुष साक्षरता                   88.5%
महिला साक्षरता                76.6%
घनत्व 2011                  717 प्रति वर्ग किमी





 अम्बाला के उद्योग:-


अम्बाला में भारत के वैज्ञानिक उपकरणों का कुल 35 प्रतिशत उत्पादन होता है, इसलिये अम्बाला को विज्ञान नगरी भी कहा जाता है।
अम्बाला मिक्सी उद्योग, धातु कास्टिंग, पनडुब्बी मोटर पंप के लिए भी प्रसिद्ध है।
सीमेंट कारखाना अम्बाला के सूरजपुर में स्थित है।
अम्बाला ओर भी बहुत सारे उद्योगों के लिए प्रसिद्ध है जैसे:-
सिलाई मशीन, इलेक्ट्रॉनिक कारखाना, रेलवे गैरेज व वैगन वर्कशॉप, खाद्य प्रसंस्करण केंद्र(साहा), कशीदाकारी, हवाई अड्डा।
अम्बाला जिला गलीचा उद्योग के लिए भी प्रसिद्ध है। जिन्हें स्थानीय भाषा मे दरी कहते है।



अम्बाला के मेले:-

बावन द्वादशी मेला अम्बाला में लगता है।
अम्बाला में गुरुनानक दिवस पर धार्मिक मेला आयोजित किया जाता है। इस मेले का आयोजन अक्टूबर - नवम्बर माह में कार्तिक पूर्णमासी को होता है।
अम्बाला जिले के त्रिलोकपुरी में शारदा देवी का धार्मिक मेला लगता है।
अम्बाला जिले के पंजोखरा नामक स्थान पर तीज का सावन मेला लगता है।




अम्बाला के प्रसिद्ध मंदिर :-

भवानी अम्बा मंदिर
शारदा मंदिर 
राधाकिशन मन्दिर




अम्बाला के प्रसिद्ध गुरुद्वारा :-

बादशाही बाग गुरुद्वारा
सिशगंज गुरुद्वारा 
मनजी साहिब गुरुद्वारा
संगित साहिब गुरुद्वारा


दरगाह :-

लक्खीशाह की दरगाह
तकवाल शाह की दरगाह


नदियां :-

घग्घर
मारकण्डा
डांगरी (टांगरी)




अम्बाला की अन्य मुख्य बातें :-

★अम्बाला उतरी रेलवे जॉन का मण्डल मुख्यालय है।
★शाहाबाद ओर अम्बाला के बीच पीर नोगजा की मजार है, जहाँ मनोकामना पूरी होने पर घड़ी चढ़ाई जाती है।
★फ्रोजन टियर यह एक शहीद स्मारक है, जो अम्बाला एयरफील्ड में स्थित है।
★महावीर उद्यान व इंदिरा उधान भी अम्बाला में स्थित है।
★साहा फ़ूड पार्क भी अम्बाला में है।
★चनेटी का स्तूप भी अम्बाला में है।
★भुपेन्द्रा सीमेंट फेक्ट्री भी अंबाला में स्थित है।
★हरियाणा का सबसे कम तहसील वाला जिला है।
★आम उत्पादन में हरियाणा में प्रथम स्थान पर है।
★हरियाणा में पक्की सड़कों का सर्वाधिक घनत्व अम्बाला में है।
★पीली मिटटी अम्बाला में पाई जाती है।
★बुढ़िया का रंगमहल अम्बाला में स्थित है।
★किंग फिसर प्रजनन केंद्र(1986) अम्बाला में स्थित है।
★प्रसिद्ध अभिनेता ओमपुरी का जन्म भी अम्बाला में हुआ था।




    

                  अम्बाला से सम्बन्ध व जन्म स्थली


1    सुषमा स्वराज

2    सुचिता कृपलानी

3   ओमपुरी

4    जूही चावला

5    कुमारी शैलजा

6    जोहरा बाई

7    दुनीचंद    ( स्वतंत्रता सैनानी )

8    बिसम्बर नाथ कौशिक








दोस्तो ये थी अम्बाला की विस्तृत जानकारी। हो सकता है कुछ बातें छूट गई हो लेकिन exam की दृष्टि से ये सब बातें बहुत महत्वपूर्ण है। ये सारी जानकारी आपको 99% किसी एक book में नही मिलेंगी।
आप इनको याद करके अपने hssc exams की तैयारी अच्छे से कर सकते है।
वैसे तो गलतियों का बहुत ध्यान रखा गया है लेकिन कई बार अनजाने में typing mistake हो जाती है अगर आपको कोई गलती नज़र आये तो कमेंट में जरूर बताये। ताकि हम आगे भी अच्छे से लिख सके।


Comments